तीन साल के बच्चे ने जीती कोरोना से जंग, परिजनों ने डॉक्टरों को दी दिल से दुआ

HS (1)
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

जो मरीज कोरोना वायरस से संक्रमित होने के पश्चात स्वस्थ्य होकर लौट रहे हैं, उनके चेहरे पर खुशी देखती ही बनती है. जिले के पानीगांव का 03 वर्षीय बालक मुमताज नबी कोरोना पॉजिटिव होने के बाद अस्पताल में भर्ती था. विगत दिवस उसकी नेगेटिव रिपोर्ट आने के बाद उसे डिस्जार्च किया गया. ग्राम पानीगांव पहुंचने के बाद बालक मुमताज नबी के पिता सरताज नबी ने अस्पताल के चिकित्सकों एवं स्वास्थ्यकर्मियों को दिल से दुआएं दी हैं.

बालक के पिता सरताज नबी ने दुआ देते हुए कहा कि मैं अपने सभी परिजनों, दोस्तों तथा ग्रामीणों को दिल से धन्यवाद देता हूं, जिन्होंने मेरे परिवार की सलामती की दुआ की. जो इस महामारी के खौफ के दौर में मेरे और मेरे परिवार के साथ रहे और मेरा हौंसला बढ़ाया तथा मेरी हिम्मत को और ज्यादा मजबूत किया.

उन्होंने इसके अलावा चिकित्सक डॉ. अतुल पवनीकर तथा स्टॉफ की नर्स संध्या पटवर्धन, सोनाली अलफ्रेड, अंजलि परिहार, चंदा कुमारी, रीता, प्रीतिबाला काले को भी दिल से धन्यवाद देते हुए कहा कि इन्हीं की बदौलत आज मेरा बेटा स्वस्थ्य हो पाया है.

उन्होंने डॉ. पवनीकर को धन्यवाद देते हुए कहा कि डॉ. साहब द्वारा दिनरात मेरे बेटे की देखरेख की तथा मेरे बेटे की छोटी-छोटी ख्वाहिशों को पूरा किया में उन्हें दिल से सलाम करता हूं.

हिन्दुस्थान समाचार/धर्मेन्द्र पंड्या