juvenile home
juvenile home

विधायक ने कहा मामला गम्भीर, डीसी को जांच के दिए आदेश

करनाल के मधुबन बालसुधार गृह से 24 बच्चों के गायब होने और फिर विधायक हरविंदर कल्याण के पास पहुंचने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. मिली जानकारी अनुसार बाल सुधार गृह में बच्चों को खाने-पीने व रहने में अनेक प्रकार की समस्याएं सामने आ रही थीं.

यह समस्याएं किस प्रकार की हैं इस संदर्भ में कोई भी अधिकारी खुलकर नहीं बोल रहा है. लेकिन सोमवार की रात के अंधेरे में छोटी उम्र से लेकर बड़े बच्चों तक का बाल सुधार गृह से बाहर निकलकर करीब 3-4 किलोमीटर दूर विधायक हरविंदर कल्याण तक पहुंचना बाल सुधार गृह की सुरक्षा व्यवस्था और कार्यशैली पर बड़ा प्रश्नचिन्ह लगा रहा है.

वहीं इस बात पर भी सवाल उठ रहा है कि बाल सुधार गृह से ये बच्चे कैसे किसी की नजर से बचते हुए परिसर से बाहर निकल गए जबकि इनकी सुरक्षा की पूर्ण जिम्मेवारी जिला प्रशासन और प्रदेश सरकार की है.

इस सम्बंध में जब घरौंडा के विधायक हरविंदर कल्याण से बात की गयी, तो उन्होंने बताया कि उनके पास बाल सुधार गृह से करीब 24 बच्चे कुछ देर पहले पहुंचे थे. विधायक ने उनकी समस्या सुनी है और जिला उपायुक्त विनय प्रताप सिंह को जांच के आदेश दिए हैं.

विधायक ने कहा कि इस बात की भी जांच करवाई जाएगी कि छोटे-छोटे बच्चे बाल सुधार गृह की पुख्ता सुरक्षा के बावजूद बाहर कैसे निकले. विधायक हरविंदर कल्याण ने अधिकारियों पर लताड़ लगाते हुए कहा कि बाल सुधार गृह की ये बड़ी चूक है क्योंकि यदि परेशान बच्चे उन तक न पहुंचते तो रात के अंधेरे में उनके साथ कोई भी बड़ा हादसा हो सकता था.

उन्होंने कहा कि जांच के बाद जो भी अधिकारी या कर्मचारी दोषी पाया जाएगा उसके विरुद्ध कड़ी कार्यवाही करवाई जाएगी क्योंकि इस तरह की चूक से बाल सुधार गृह के अधिकारियों व कर्मचारियों की बड़ी लापरवाही सामने आई है.

बच्चों ने विधायक को किस तरह की शिकायत व आरोप लगाए इस बारे में विधायक हरविंदर कल्याण ने अभी खुलकर तो कुछ नहीं बताया लेकिन सूत्रों का दावा है कि बच्चो ने बाल सुधार गृह में हो रही कई बड़ी और सनसनीखेज समस्याओं के बारे में विधायक हरविंदर कल्याण को बताया है.

जिसके बाद डीसी विनय प्रताप सिंह को जांच के आदेश दिए गए हैं. उधर बाल भवन के प्रबंधक राज सिंह ने बताया कि बाल भवन में 60 बच्चे हैं और कुछ बच्चे 18 साल से ऊपर है, जो कि बालभवन में उत्पात मचाते हैं. सोमवार रात को कुछ बच्चे बाल भवन से निकल गए थे, जाने से पहले उन्होंने सभी बच्चों को समझाया, मगर 3-4 बच्चे उन बच्चों की अगुवाई कर रहे थे. मामले की तुरंत सूचना पुलिस को दी थी.

हिन्दुस्थान समाचार/सन्दीप