हरियाणा: ऑरेंज जोन में 18 जिले, पर छूट मिलेगी बस 14 में

1
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

चंडीगढ़, 02 मई (हि.स.). केंद्र सरकार द्वारा हरियाणा के 18 जिलों को भले ही ऑरेंज जोन में शामिल कर दिया गया है लेकिन हरियाणा सरकार ने धरातल की रिपोर्ट के आधार पर सोमवार से प्रदेश के 14 जिलों में लॉकडाउन में ढील देने की योजना बनाई है.

केंद्र सरकार की रिपोर्ट आने के बाद हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल, गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज शुक्रवार देररात तक अधिकारियों के साथ बैठक में सोमवार से लॉकडाउन में ढील पर मंथन करने में जुटे रहे.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से जारी जानकारी के अनुसार सोनीपत व फरीदाबाद रेड जोन, महेंद्रगढ़ व रेवाड़ी ग्रीन जोन में रहेंगे. इसके अलावा गुरुग्राम, नूंह, पानीपत, पंचकूला, पलवल, रोहतक, हिसार, अंबाला, झज्जर, भिवानी, कैथल, कुरुक्षेत्र, करनाल, जींद, सिरसा, यमुनानगर, फतेहाबाद, चरखी-दादरी जिला को ऑरेंज जोन में शामिल किया गया है.

इसके बाद ग्रांउड जीरो से मिली जानकारी के आधार पर हरियाणा सरकार ने प्रदेश के 14 जिलों में सोमवार से औद्योगिक इकाइयों, वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों और निर्माण परियोजनाओं से ऑनलाइन स्व-घोषणा प्राप्त करने उपरांत गतिविधियां संचालित करने की स्वत: अनुमति होगी.

सरकार प्रवक्ता ने बताया कि सूचना प्रौद्योगिकी तथा सूचना प्रौद्योगिकी इनैबल्ड सेवाओं की इकाइयों को छोड़कर उद्योगों, औद्योगिक प्रतिष्ठानों, वाणिज्यिक और निजी प्रतिष्ठानों के लिए यदि श्रमशक्ति की आवश्यकता 20 लोगों तक की है तो उनमें शत-प्रतिशत चलाने की अनुमति होगी.

20 से अधिक श्रमशक्ति की आवश्यकता के मामले में, 50 प्रतिशत श्रमशक्ति से चलाने की अनुमति होगी. निर्माण स्थलों की परियोजनाओं के लिए, इन-सिटू के प्रत्येक मामले में शत-प्रतिशत श्रमशक्ति के साथ संचालन की अनुमति दी जाएगी. इसके लिए कोई पास जारी नहीं किया जाएगा.

इन 14 जिलों में तुरंत मिलेगी मंजूरी
हरियाणा के अंबाला, भिवानी, चरखी दादरी, फतेहाबाद, हिसार, जींद, कैथल, करनाल, कुरुक्षेत्र, महेंद्रगढ़, रेवाड़ी, रोहतक, सिरसा और यमुनानगर में मानदंडों के अनुसार पोर्टल पर आवेदन जमा करने के तुरंत बाद स्वीकृति स्वत: स्व-सृजित होगी. अगर इनमें से किसी भी जिले में कोरोना के पॉजिटिव मामले की संख्या 15 तक पहुंच जाती है तो सभी औद्योगिक इकाइयों, वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों और निर्माण परियोजनाओं को अपना कार्य बंद करना होगा. दस कोरोना केस आने के बाद पोर्टल द्वारा अलर्ट मैसेज भेजा जाएगा.

इन आठ जिलों में सरकारी समितियां देंगी मंजूरी
हरियाणा सरकार के अनुसार फरीदाबाद, गुरुग्राम, सोनीपत, पानीपत, नूंह, पलवल, झज्जर और पंचकूला में अनुमति विकास खंड टाउन या ज़ोन (नगर निगम के मामले में) के स्तर पर अधिकृत कमेटी द्वारा दी जाएगी.

यदि किसी ब्लॉक / टाउन या ज़ोन में पिछले 28 दिनों में कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या 10 तक पहुंच जाती है तो आवश्यक वस्तुओं और सेवाओं को छोडकऱ, किसी भी औद्योगिक इकाई को संचालित करने की अनुमति नहीं दी जाएगी. छह केसों के बाद आवेदक को अलर्ट मैसेज आना शुरू हो जाएगा.

हिन्दुस्थान समाचार/संजीव