झारखंड के आधे हिस्से तक पहुंचा कोरोना, कुल संक्रमितों की संख्या हुई 111

corona rapid test kit
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

रांची, 01 मई (हि.स.).गोड्डा झारखंड का 12वां कोरोना प्रभावित जिला बन गया.इसके साथ झारखंड के आधे हिस्से तक कोरोना ने अपना पैर पसार लिया है .राज्य के 24 में से 12 जिले अब तक कोरोना से प्रभावित हो चुके हैं ।

गुरुवार को झारखंड में चार नए मरीजों की पुष्टि हुई जिनमें 3 रांची और एक गोड्डा से पाया गया .गोड्डा में पहला कोरोना पॉजिटिव पाया गया है.

धनबाद में कुल 109 सैंपलों की जांच की गयी थी, जिसमें 108 की रिपोर्ट निगेटिव आई.जबकि एक रिपोर्ट पॉजिटिव निकला जो गोड्डा जिले के पोड़ैयाहाट प्रखंड के लत्ता गांव का रहने वाला है .गोड्डा के सिविल सर्जन एस पी मिश्रा ने गुरुवार देर रात इसकी पुष्टि की है. इसके साथ ही राज्य में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 111 हो गई है.

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार पिछले दो दिनों से झारखंड में कोरोना की रफ्तार कम हुई है . अब तक राज्यभर में पाए गए कुल 111 मरीजों में में 20 लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं वहीं 3 की मौत हो चुकी है.राज्य में अभी तक कोरोना के 88 एक्टिव केस हैं.जब्कि राज्य का डेथ रेट 2-80 है.

स्वास्थ्य सचिव नितिन मदन कुलकर्णी ने बताया कि राज्य में अभी कुल 33 कंटेनमेंट जोन निर्धारित किए गए हैं.जिसमें से 15 रांची में है.इन कंटेन्मेंट जोन में लॉक डाउन का कड़ाई से पालन कराया जा रहा है.इन जगहों से न किसी को बाहर जाने न ही किसी को अंदर जाने की अनुमति दी जा रही है.

उन्होंने बताया कि राज्य में कोरोना से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा हर संभव प्रयास किये जा रहे है.राज्य में फेस मास्क, पीपीई किट पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है.इसे प्रत्येक जिला में भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध करा दिया गया है.साथ ही इनका केंद्र में भी स्टॉक रखा गया है ताकि जरूरत पड़ने पर संबंधित को उपलब्ध कराया जा सके.उन्होंने बताया कि राज्य में कोविड-19 के जांच हेतु 4 जांच केंद्र कार्य कर रहे हैं.

राज्य के 3 मेडिकल संस्थानों में भी लैबोरेट्री का निर्माण कराया जा रहा है, जो जल्द ही तैयार हो जाएगा.इसके साथ ही आईसीएमआर द्वारा कुछ प्राइवेट जांच घरों को अनुमति देने हेतु कार्य किया जा रहा है .जहां वैसे लोग जो अपना खुद से टेस्ट करवाना चाहते हैं वह टेस्ट करवा सकते हैं. मरीजों की सही से देख भाल हो सके इस हेतु राज्य में अभी 206 वेंटिलेटर बेड भी उपलब्ध हैं.

हिन्दुस्थान समाचार/सबा एकबाल