बिहार विधानसभा चुनाव: 10 नामांकन रद्द, जिले के 5 विधानसभा में 73 प्रत्याशी

Bihar Assembly Election
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नवादा 10 अक्टूबर (हि स). नामांकन पत्रों की जांच पूरी कर ली गई है. पांच विधानसभा क्षेत्र के निर्वाची पदाधिकारियों के कार्यालय में नामांकन पत्रों की जांच की गई. जिले के पांचों विधानसभा क्षेत्र में कुल दस नामांकन रद किए गए. इस प्रकार जिले में 73 प्रत्याशी मैदान में रह गए हैं.

हिसुआ में सबसे अधिक छह, नवादा में तीन और रजौली में एक नामांकन रद्द किए गए हैं. इस प्रकार रजौली में 22, हिसुआ में 8, नवादा में 15, वारिसलीगंज में 10 और गोविन्दपुर में 18 नामांकन वैध पाए गए हैं. बता दें कि 12 अक्टूबर तक नाम वापस लिए जाएंगे. 12 को ही चुनाव चिन्ह आवंटित कर दिया जाएगा.

नवादा विधानसभा क्षेत्र में स्क्रूटनी के बाद तीन प्रत्याशियों का नामांकन रद्द कर दिया गया है. निर्वाची पदाधिकारी सह सदर एसडीएम उमेश कुमार भारती ने बताया कि श्याम श्यामल, उमेश चौधरी और चुनचुन कुमार के नामांकन रद्द किए गए हैं. शेष सभी प्रत्याशियों का नामांकन वैध है. बता दें कि नवादा विधानसभा क्षेत्र में 18 प्रत्याशियों ने नामांकन कराया था. तीन के नामांकन रद होने के बाद अब मैदान में 15 उम्मीदवार बचे हैं.

रजौली में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर क्षेत्र के कुल 23 प्रत्याशियों ने गुरूवार तक नामांकन दाखिल किया था. रजौली के निर्वाची पदाधिकारी सह एसडीओ चंद्रशेखर आजाद की मौजूदगी में प्रेक्षकों ने नामांकन पत्रों की स्क्रूटनी (संवीक्षा) की. इस क्रम में जनतांत्रिक विकास पार्टी की प्रत्याशी साबो देवी का नामांकन रद कर दिया गया. कागजात अधूरा रहने के चलते कार्रवाई की गई.

एसडीओ ने बताया कि उनके द्वारा नामांकन के दौरान शपथ पत्र नहीं दिया गया था और ना ही उनके द्वारा नामांकन पत्र को सही ढंग से भरा गया था. नामांकन पत्र में बहुत सारी त्रुटियां थी. प्रत्याशी साबो देवी गोविदपुर विधानसभा क्षेत्र की मतदाता हैं. उन्हें नामांकन के बाद नोटिस देकर बताया गया था कि स्क्रूटनी के दिन 3 बजे तक प्रमाणित मतदाता सूची की प्रतिलिपि जमा करना है. बावजूद उन्होंने जमा नहीं किया. जिसके कारण उनका नामांकन रद कर दिया गया है. बाकी 22 प्रत्याशियों का नामांकन स्वीकार कर लिया गया है.

वारिसलीगंज विधानसभा क्षेत्र में सभी उम्मीदवारों का नामांकन वैध पाया गया है. निर्वाची पदाधिकारी मो. मुस्तकीम ने बताया कि नामांकन पत्रों की जांच कर ली गई है. सभी कागजात सही पाए गए हैं. बता दें कि वारिसलीगंज में 10 उम्मीदवारों ने नामांकन कराया था.

गोविन्दपुर विस के सभी उम्मीदवारों के नामांकन वैध पाए गए हैं. निर्वाची पदाधिकारी सह डीडीसी वैभव चौधरी की देखरेख में नामांकन पत्रों की जांच की गई. देर शाम तक चली जांच में सभी नामांकन वैध पाए गए.

हिसुआ में सबसे अधिक छह प्रत्याशियों के नामांकन रद किए गए हैं. निर्वाची पदाधिकारी सह एडीएम उज्ज्वल कुमार सिंह की देखरेख में नामांकन पत्रों की जांच की गई. जिसमें लोजपा सेकुलर के शत्रुघ्न विश्वकर्मा, प्लूरल्स के संतोष कुमार, दीपक कुमार, विक्रम कुमार पांडेय, उपेंद्र प्रसाद और अश्विनी यादव का नामांकन रद्द किया गया. इस प्रकार हिसुआ में आठ प्रत्याशी चुनावी मैदान में रह गये हैं .

हिन्दुस्थान समाचार/डॉ सुमन/चंदा