ramadan
ramadan(FILE PHOTO)

वाराणसी. मुकद्दस रमजान महीने के दूसरे जुमे पर शुक्रवार को मुस्लिम बंधुओं और रोजेदारों ने पूरे उत्साह के साथ नमाज अता की. शहर की सभी छोटे-बड़े मस्जिदों, इबादतगाहों में जुटे रोजेदार नमाजियों में रमजान माह के पहले अशरे के पूरे होने पर खुशी देखी गई.

पवित्र माह के दूसरे अशरे मगफिरत को लेकर उत्साहित नमाजियों ने पांचों वक्त की नमाज और तराबीह की नमाज अता करने का संकल्प लिया.

शाही मस्जिद बीबी रजिया दालमंडी, जामा मस्जिद, नई सड़क स्थित लगड़ा हाफिज मस्जिद में मौलाना ने कहा कि रोजेदार द्वारा मांगी गई नेक दुआ अल्लाह पूरी करता है. गुनाहों की तौबा करो, यह महीना रहमतों व गुनाहों से माफी मांगने का है

पूरे वर्ष जो भी गलतियां की इसकी रब से माफी मांगों. इस महीने में जन्नत के दरवाजे खुल जाते हैं. दोजख के बंद हो जाते हैं. शैतान को कैद कर लिया जाता है.

(FILE PHOTO)

मौलाना ने कहा कि रमजान माह बरकतों का का माह है. इस माह नेकी अधिक से अधिक करें. आज से दूसरा असरा शुरू हो गया, ये असरा नफरत मिटाने का है. इसमें समाज में भाईचारा कायम करें.

एक-दूसरे के दिलों से नफरत मिटाने का काम करें. सभी की बरकत के लिए अल्लाह से दुआ करें. दरगाहे फातमान में शिया समुदाय के लोगों ने भी बड़ी संख्या में जुमे की नमाज अता की.

हिन्दुस्थान समाचार/श्रीधर