प्याज खाने से कतरा रहे लोग, 150 रुपये किलो हुआ देश के कई शहरों में रेट

  • प्‍याज की आसमान छूती कीमत पर अंकुश लगाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा उठाए गए कदम का कोई असर नहीं दिख रहा
  • देशभर में प्‍याज खुदरा में 90 से 180 रुपये किलो के भाव बिक रहा है. वहीं, राजधानी दिल्‍ली में प्‍याज 90 से 100 रुपये किलो तक मिल रहा है

नई दिल्ली. प्याज की कीमतें लगातार आसमान छू रही हैं, दाम है कि नीचे आने का नाम ही नहीं ले हैं. इन बढ़ती कीमतों ने आम आदमी की रसोई का बजट तो बिगाड़ ही दिया है. लेकिन अब जितनी तेजी से कीमतें बढ़ रही हैं, उन्हें देख कर तो ये मालूम हो रहा है कि अब महंगाई से आम आदमी की कमर टूटने वाली है.

प्‍याज की आसमान छूती कीमत पर अंकुश लगाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा उठाए गए कदम का कोई असर नहीं दिख रहा. देशभर में प्‍याज खुदरा में 90 से 180 रुपये किलो के भाव बिक रहा है. वहीं, राजधानी दिल्‍ली में प्‍याज 90 से 100 रुपये किलो तक मिल रहा है.

ऐसा नहीं है कि सरकार दामों पर काबू पाने की कोशिश नहीं कर रही है. सरकार लगातार कोशिशें कर रही है, लेकिन सरकार की सारी कोशिशे असलफ होती नजर आ रही है.

केंद्रीय उपभोक्ता मामले मंत्रालय की वेबसाइट पर गुरुवार को दी गई कीमत सूची के अनुसार, गोवा की राजधानी पणजी में प्याज का खुदरा भाव 165 रुपये किलो था, जबकि देशभर में प्याज का औसत खुदरा दाम 100 रुपये प्रति किलो.

उधर पश्चिम बंगाल के हावड़ा में भी प्याज का दाम 150 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गया है. इसकी वजह से आम लोग जो कभी प्याज 1-2 किलो खरीदते थे, अब 250 ग्राम तक प्याज खरीदने को मजबूर हुए हैं.

सरकार देशभर में प्‍याज के बढ़ते दाम पर काबू पाने के लिए सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी एमएमटीसी मिस्र से 6090 टन प्याज का आयात करेगी. हालांकि अभी इसमें कम से कम 15 से 20 दिनों का वक्‍त लगेगा.

ऐसे में प्याज की नई फसल बाजार में आने की उम्‍मीद की जा रही है. सूत्रों ने सोमवार को बताया कि सरकार देश में प्याज की किल्लत को देखते हुए 1.2 लाख टन प्याज आयात करने का फैसला किया है. दरअसल दिल्ली-एनसीआर के इलाकों में प्याज की खुदरा कीमत 90 रुपये प्रति किलो पहुंच गई. वहीं चेन्‍नई में एक दशक बाद पहली बार प्‍याज की कीमत 120 रुपये किलो तक पहुंच गई है.

प्याज के थोक कारोबारियों का कहना है कि मंडी में प्याज के थोक भाव 8000 रुपये प्रति क्विंटल तक चल रहे हैं.प्याज कारोबारियों के मुताबिक 15 दिसंबर से पहले प्याज के दाम में कोई राहत नहीं मिलने वाली है.

उधर, देश में प्‍याज की मांग और आपूर्ति में बढ़ते अंतर को देखते हुए प्याज की कीमतों में और बढ़ोतरी हो सकती है. वहीं, उपभोक्ता मंत्रालय के मुताबिक इस साल प्याज का उत्पादन पिछले साल के मुकाबले करीब 26 फीसदी की गिरावट है.

इस बीच प्याज का जायजा के लिए उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के सचिव ए.के. श्रीवास्तव ने राज्‍य सरकार के अधिकारियों के राज्यों के साथ बैठक की. नाफेड (भारतीय राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन महासंघ) ने कहा है कि वह अपनी दुकानों, मदर डेयरी, केंद्रीय भंडार और एनसीसीएफ के जरिए प्याज की खुदरा बिक्री करेगा.

Breaking News: Onion Price Today in Hindi | Aaj Ka Taja News | Onion Rate Today | Hindi Samachar

Leave a Reply

%d bloggers like this: