तीन तलाक बिल महिलाओं के अधिकार का विषय: मेघवाल

बीकानेर, 22 जून. केंद्रीय भारी उद्योग राज्य मंत्री अर्जुन मेघवाल ने कहा है कि तीन तलाक बिल मुस्लिम महिलाओं के अधिकार का विषय है, ना कि धर्म में दखल करने का.

दो दिवसीय दौरे पर बीकानेर आए केंद्रीय मंत्री अर्जुन ने शनिवार को मीडिया से कहा कि लोकसभा में वर्तमान में सदन चल रहा है अच्छा फ्लोर मैनेजमेंट है, आशा है विपक्ष सहयोग करेगा.

उन्होंने कहा कि लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने निर्देश दिए हैं कि सबका साथ लेना है और जो महत्वपूर्ण विधेयक पास कराने में विपक्ष, अगर सभी सकारात्मक बातों पर सहयोग करे तो देशहित में अच्छा रहेगा इसलिए हमने महत्वपूर्ण बिलों पर विपक्षी दलों से चर्चा की.

विपक्षी दलों से कहा भी कि वे देशहित में महत्वपूर्ण बिल पास कराने में सहयोग करें. तीन तलाक बिल को लेकर विपक्ष को भी अब समझ में आ गया कि यह महिलाओं के अधिकार से जुड़ा हुआ है.

लोकसभा में शुक्रवार को पेश हुआ तीन तलाक बिल
लोकसभा में शुक्रवार को तीसरी बार तीन तलाक विधेयक पेश किया गया. केंद्रीय कानून एवं विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद ने लोकसभा में जैसे ही तीन तलाक का बिल पेश किया, सदन में हंगामा शुरू हो गया. विपक्ष के विरोध के बीच यह विधेयक 74 के मुकाबले 186 मतों के समर्थन से पेश किया गया.

विपक्ष के हंगामे को देखते हुए कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि जनता ने हमें कानून बनाने भेजा है. कानून पर बहस और व्याख्या का काम अदालत में होता है. संसद को अदालत नहीं बनने देना चाहिए.

उन्होंने कहा कि जब सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी मुस्लिम महिलाएं तीन तलाक के चलन से पीड़ित हैं, तो क्या संसद को इस पर विचार नहीं करना चाहिए? उन्होंने कहा कि यह नारी के सम्मान और नारी-न्याय का मामला है, धर्म का नहीं.

2 thoughts on “तीन तलाक बिल महिलाओं के अधिकार का विषय: मेघवाल”

Leave a Reply

%d bloggers like this: